संस्थापक

विद्यालय की स्थापना स्थानीय कोरियां ग्राम निवासी श्री भालचन्द्र दीक्षित (शास्त्रीजी) द्वारा सन् 1950 में एक छोटे रूप में क्षेत्र के लोगों को शिक्षित करने के लिए की गयी थी, कालांतर में श्री शास्त्री जी ने अपने प्रयासों से विद्यालय में उत्तरोत्तर प्रगति एवं विकास किया और विद्यालय आज इस रूप में उन्हीं के प्रयासों के कारण ही सम्भव हुआ है।

विद्यालय में सिर्फ कानपुर जनपद ही नहीं आस-पास के कई दूरस्थ जनपदों के विद्यार्थी विद्यालय स्थापना वर्ष से पिछले कई सालों तक विद्यालय के छात्रावास में रहकर अध्ययन करते रहे हैं विद्यालय में शिक्षा प्राप्त करके कई छात्र विदेशों में तथा प्रशासनिक सेवाओं में और उच्च पदों पर कार्य करते रहे हैं और कर रहे हैं तथा विद्यालय की मान और प्रतिष्ठा बढ़ा रहे हैं ये श्री भालचन्द्र दीक्षित जी का प्रयास था कि क्षेत्र में शिक्षा और ज्ञान की लौ आज भी जगमगा रही है. श्री शास्त्री जी विद्यालय में सन 1950 से लेकर 1979 तक प्रधानाचार्य रहे 1979 में सेवानिवृत्ति के पश्चात उन्होनें अपनी सारी सम्पत्ति और जमीन विद्यालय को दान में दे दिया जिससे विद्यालय का विकास उत्तरोत्तर होता रहे और स्वयं सन्यास लेकर प्रयागराज की पावन धरती पर अपने जीवन का शेष समय व्ययतीत किया

श्री रमाकान्त शुक्ल (प्रबंधक)

श्री रमाकान्त शुक्ल विद्यालय में 5 फरवरी सन् 2017 से अद्यतन प्रबंधक पद पर आसीन हैं एवं विद्यालय के विकास में एवं शिक्षा स्तर को सुधारने के प्रयास में अपना संपूर्ण योगदान दे रहे हैं इसके पूर्व श्री रमाकान्त शुक्ल विद्यालय में सन् 1973 से सन् 2013 तक प्रवक्ता पद पर कार्यरत् थे, सेवानिवृत्ति के बाद विद्यालय के विकास में अपना योगदान दे रहे हैं।

स्कूल चले हम

श्री कृष्ण कुमार पांडेय
(प्रधानाचार्य)

ॠषि आस्तिक की पावन तपोस्थली पर स्थित श्री आस्तीक मुनि इंटर कालेज कोरियां घाटमपुर जनपद कानपुर नगर में आपका हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन है, यह संस्थान पूर्व माध्यमिक शिक्षा व माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र मे एक अग्रणी संस्थान है जो कि नियमित , सुरुचिपूर्ण तथा सामान्य एवं व्यवस्थित है तथा छात्रो के शारीरिक, मानसिक, नैतिक एवं व्यवसायिक प्रगति हेतु अनवरत प्रयत्नशील है। यह एक प्रगतिशील सह शिक्षा युक्त संस्थान है जो कि भारतीय संस्कृति एवं परम्परा तथा पाश्चात्य ज्ञान विज्ञान के अनुसार छात्रो को गुणवत्तापूण॔ शिक्षा उपलब्ध कराता है।
सः विद्या या विमुक्तये को चरितार्थ करते हुए हमारा मुख्य उद्देश्य शिक्षा मे मानवतावादी मूल्यों के साथ साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण तथा नवीन शैक्षिक विचारों को भी विकसित करना है। यह संस्थान व्यक्तिगत स्तर पर शिक्षा के लिए एक आधारभूत प्रभावी ढांचा तैयार करता है जिससे कि उसमे एक मजबूत भविष्य का निर्माण किया जा सके। उच्च योग्य शिक्षित शिक्षक गण छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु निरन्तर निर्देशन व परामर्श प्रदान करते हैं।हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि सद्भाव अनुशासन व नैतिक मूल्यों को सीखने हेतु उपयुक्त वातावरण आपको इस संस्थान में अवश्य मिलेगा जो कि आपको उन्नति के उच्चतम शिखर पर आरोहित करने मे सक्षम हो सकेगा।।
विद्या नाम नरस्य कीर्तिर्तुला भाग्यक्षये चाश्रयो।
धेनुः कामदुधा रतिश्च विरहे नेत्रं तृतीयं च सा॥
सत्कारायतनं कुलस्य महिमा रत्नैर्विना भूषणम्।
तस्मादन्यमुपेक्ष्य सर्वविषयं विद्याधिकारं कुरु॥

सुविधाएँ

जीव विज्ञान प्रयोगशाला
खेल का मैदान
रसायन विज्ञान प्रयोगशाला

2,43,286
Area
(Square km.)

2,43,286
Area
(Square km.)

2,43,286
Area
(Square km.)

2,43,286
Area
(Square km.)

सीखना और मज़ा

भाषा सीखने, कला और को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियाँ
शिल्प, पाक, संगीत।

योग्य शिक्षक

हमारे अनुभवी शिक्षक बच्चों को प्रश्न पूछने, समस्याओं को हल करने और खुद को व्यक्त करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं रचनात्मक रूप से।

खेल - कूद वाले खेल

हम छात्रों को टेबल टेनिस, बैडमिंटन, बास्केटबॉल और क्रिकेट जैसे खेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करते हैं
उनमें खेल भावना को बाहर लाएं।

समाचार एवं घटनाक्रम

शिक्षा एवं कौशल विकास

शिक्षा एवं कौशल विकास

ऑनलाइन परीक्षा परिणाम देखें/ऑनलाइन परिणाम देखेंविद्यालयों के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्रप्रयोगशाला रसायनज्ञ - बैच रिलीज से जो काम करने की उम्मीद की जाती है उनमें शामिल हैं:निर्धारित तरीकों और विनिर्देशों के अनुसार टेस्ट करके बैच रिलीज के लिए परीक्षण करनाकौशल विकासखेल के...

read more
शिक्षा एवं कौशल विकास

शिक्षा एवं कौशल विकास

ऑनलाइन परीक्षा परिणाम देखें/ऑनलाइन परिणाम देखेंविद्यालयों के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्रप्रयोगशाला रसायनज्ञ - बैच रिलीज से जो काम करने की उम्मीद की जाती है उनमें शामिल हैं:निर्धारित तरीकों और विनिर्देशों के अनुसार टेस्ट करके बैच रिलीज के लिए परीक्षण करनाकौशल विकासखेल के...

read more